United Bank of India - Home
English     
united bank of india
screen   : नेविगेशन | मुख्य भाग
नया क्या है
  हम तक पहुंच सकते है?
युनाइटेड बचत खाता
 

पात्रता :

बचत खाता एक व्यिक्ति के या दो अथवा अधिक व्याक्तियों के नाम पर खोला जा सकता है. संयुक्त खाते के मामले में खाता संयुक्तल रूप से या प्रत्येरक द्वारा अलग अलग रूप से परिचालित किया जा सकता है, जिसमें कोई भी एक या जीवित या पहला या जीवित इस प्रकार के परिचालन निर्देश दिए जा सकते हैं.


13 वर्ष की आयु के अवयस्कख बच्चे अपना खाते के परिचालन स्वोतंत्र रूप से कर सकते हैं. निरक्षर व्य क्ति भी निरक्षर व्य क्ति के साथ या साक्षर व्येक्ति के साथ खाता खोल सकता है, लेकिन साक्षर व्य क्ति ‘जीवित’ होगा. दृष्टिहीन व्येक्ति भी खाता खोल सकता है. क्लहब, सोसायटी या एसोसिएशन द्वारा भी खाता खोला जा सकता है.


बचत खाता खोलना जिनके लिए प्रतिबंधित है, ऐसी इकाइयां.

(परिपत्रांक वीआईजी/सीवीओ/एनएलएम/ओएम-73/06/2004 दिनांक 29.04.2004 के अनुसार)


  • सरकारी विभाग

  • अपने कार्यनिष्पाजदन के लिए बजटीय आबंटन पर निर्भर निकाय

  • महानगरपालिका या समितियां

  • पंचायत समितियां

  • राज्य हाउसिंग बोर्डस

  • जल और मलनिस्सागरण / निकास बोर्ड

  • राज्य पाठ्यपुस्त‍क प्रकाशन निकाय

  • सोसायटीज

  • महानगरी विकास प्राधिकरण

  • राज्य/ जिला स्त्रीय को ऑपरेटिव हाउसिंग सोसायटीज

  • कोई भी व्यापारिक, कारोबारी या व्येवसायी कंपनी (यानी चार्टर्ड एकाउंटंट की, वकीलों की फर्म या कंपनी या एसोसिएशन)

ऐसे संगठन / निकायों की सूची जिनपर उपरोक्त प्रतिबंध लागू नहीं हैं :

(परिपत्रांक वीआईजी/सीवीओ/एनएलएम/ओएम-73/06/2004 दिनांक 29.04.2004 के अनुसार)


  • प्राथमिक सहकारी ऋण संस्था, जिसे बैंक द्वारा वित्तपोषित किया गया है.

  • खादी और ग्रामोद्योग विकास बोर्ड

  • कृषि उत्पायद मार्केट समितियां

  • सोसायटी पंजीकरण अधिनियम, 1860 या राज्य या संघशासित प्रदेश में लागू तत्सषम किसी अन्यी कानून के तहत पंजीकृत सोसायटीज

  • कंपनी अधिनियम, 1956 के तहत पंजीकृत कंपनियां, जिन्हें् उक्तत अधिनियम के खंड 25 के तहत या भारतीय कंपनीज अधिनियम, 1913 में तदनुरूप किसी प्रावधान के तहत केन्द्रत सरकार द्वारा लाइसेन्सन दिया गया है और अनुमति दी गई है कि वे अपने नाम के सामने ‘लिमिटेड’ या ‘प्राइवेट लिमिटेड’ इन शब्दोंन का इस्तेतमाल नहीं करेंगे.

  • उपरोक्तय अनुच्छे्दों में उल्लिखित (प्रतिबंधित इकाइयां) के अतिरिक्ता संस्थाडएं और जिनकी संपूर्ण आय आयकर अधिनियम, 1961 के तहत आयकर के भुगतान से मुक्तइ है.

  • सरकारी विभाग / निकाय / एजेंसियां, केन्द्रत सरकार / राज्य् सरकार द्वारा विविध कार्यक्रमों के कार्यान्वियन के लिए दी गई अनुदान / उपदान के विषय में, बशर्ते कि उन्हें् संबंधित केन्द्रा / राज्यक सरकार के विभागों द्वारा बचत खाता खोलने के लिए दिया गया प्राधिकार प्रस्तुित करते हैं.

  • ड्वाकरा

  • पंजीकृत या अपंजीकृत स्वेयं सेवा समूह, जो सदस्यों के बीच बचत की आदत को प्रोत्साकहित करते हैं.

  • किसान क्लिब – विकास वालंटियर वाहिनी

  • एसएफडीए / एफएफडीए

  • एमएफएएल

  • डीपीएपी

  • डीआरडीए / डीआरडीएस

  • आईआरडीपी / ग्रामीण किसानों के या उद्यमियों के अनौपचारिक समूह

  • आईटीडीए

  • जिला परिषद / ग्राम पंचायत, सिर्फ जेआरवाय निधि के विषय में

  • एमपीएलएडी बशर्ते कि ऐसा कोई भी खाता सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक के अलावा किसी भी बैंक में खोला नहीं जाएगा.

  • जिला परिषद / ग्राम पंचायत, केन्द्र् सरकार / राज्ये सरकार द्वारा विविध ग्राम विकास / कल्यादणकारी कार्यक्रमों के कार्यान्व‍यन के लिए दी गई निधि और / अथवा अनुदान / उपदान से संलग्ना राज्या सरकार / केन्द्रक सरकार द्वारा प्रायोजित कार्यक्रमों के विषय में दी गई निधि.

  • नगर पंचायत, नगरपालिका और महानगरपालिका निकाय नेहरु रोजगार योजना के तहत दी गई निधि (केन्द्री य सहायता के साथ साथ राज्यग का हिस्सा ) के विषय में, जो सब्सिडी के रूप में और सुमे के प्रशिक्षण और बुनियादी सुविधा के विषय में दी गई हो और सुमे के दोनों घटकों के तहत जमाराशियों पर और सुमे के तहत जमाराशियों पर अर्जित ब्या ज के विषय में, बशर्ते कि कि ऐसा कोई भी खाता सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक के अलावा किसी भी बैंक में खोला नहीं जाएगा.

खाते का परिचय :

  • कोई भी बचत खाता या चालू खाताधारक, जिसका बैंक में पिछले 6 महीनों से संतोषजनक रूप से चलाया जानेवाला खाता हो.

  • कोई भी अनुसूचित बैंक

  • राजपत्रित अधिकारी महानगरपालिका के अध्यकक्ष, निगम के सलाहकार, ग्राम पंचायत के प्रधान / अध्याक्ष

  • शाखा के अधीनस्थक कर्मचारी सहित स्थासयी कर्मचारी शाखा परिचयकर्ता को शाखा में आने का आग्रह न करे.  

परिचय से निम्नी के लिए छूट दी जा सकती है

  • पासपोर्ट या सरकारी विभाग या चुनाव आयोग द्वारा जारी फोटो पहचान पत्र प्रस्तुणत करने पर

  • किसी भी बैंक पर आहरित चेक के मामले में निम्नालिखित में से किसी भी एक के साथ

  1. चुनावी कार्ड

  2. पैन कार्ड

  3. ड्राइविंग लाइसेन्सक, अद्यतन क्रेडिट कार्ड स्टेटमेंट / वेतन पर्ची, कार्यालय प्रमुख के समुचित हस्ताइक्षर के साथ

  4. बिजली का बिल (अद्यतन तारीख का)

  5. टेलीफोन बिल (अद्यतन तारीख का)

  6. बैंक को स्वीअकार्य प्रतिष्ठित ग्राहक से प्रमाणपत्र

नामांकन

एक खाते में सिर्फ एक व्यिक्ति के पक्ष में नामांकन स्वीकार किया जाएगा.  


आवश्य्क दस्तावेज

i) दो पासपोर्ट आकार के फोटो


ii) पैन कार्ड की फोटोप्रति या आयकर अधिनियम के अनुसार फॉर्म 60 या 61 में घोषणापत्र प्रस्तुात करना

iii) निवासी घर के पते का प्रमाण यानी ड्राइविंग लाइसेन्सॉ / राशन कार्ड / मतदाता पहचान पत्र / पासपोर्ट / बिजली का बिल इत्यासदि या बैंक को स्वीमकार्य किसर व्याक्ति से प्रमाणपत्र  

ब्याज का गणन


खाते में रखे गए न्यू नतम जमा शेष को ध्यापन में लेते हुए मासिक प्रॉडक्ट आधार पर जून और दिसंबर में ब्या ज अर्धवार्षिक तौर पर दिया जाएगा.  


आहरणों पर पाबंदी

यदि एक कैलेंडर अर्धवर्ष में आहरणों की संख्यात (एटीएम से आहरणों को छोडकर) 50 से अधिक हो जाए तो 50 से अतिरिक्तर प्रत्ये(क आहरण के लिए प्रति आहरण रु. 10/- प्रभार लिए जाएंगे.  

आहरण पर्ची से नकदी आहरण पर पाबंदी

आहरण पर्ची से धारक के माध्यदम से राशि आहरित करने पर रु. 2000/- और स्वनयं राशि प्राप्त् करने के लिए रु. 20000/- की सीमा निर्धारित की गई है. जब कि निरक्षर ग्राहक आहरण पर्ची के द्वारा चाहे जितनी राशि आहरित कर सकते हैं, क्योंकि उन्हेंई चेकबुक नहीं दिया जाता.


खाता बंद करना

यदि खाता खोलने के तीन महीनों के भीतर खाता बंद किया जाए तो कोई ब्यायज देय नहीं होगा.  


परिचालन के तरीके

अ) कोई भी एक या जीवित / कोई भी एक या जीवित (एक या एक से अधिक) : कोई भी धारक खाते का परिचालन कर सकता है, लेकिन खाता बंद करने के मामले में या स्थिति में परिवर्तन करने के लिए, सभी खाताधारकों को संयुक्त रूप से आदेश देना होगा.


आ) पहला या जीवित : पहला खाताधारक खाता परिचालित, बंद कर सकता है और खाते की स्थिति में परिवर्तन भी कर सकता है.


इ) एक (अनेक) जमाकर्ता (ओं) की मृत्युं की स्थिति में, जीवित व्य्क्ति खाता परिचालित कर सकते हैं / बंद कर सकते हैं.  


ग्राहक को उपलब्ध सुविधाएं


  • खाताधारक (कों) की मृत्यु के प्रसंग में खाते में जमा शेष का तुरंत भुगतान संभव हो, इसलिए नामांकन सुविधा

  • चेक बुक / पासबुक सुविधा

  • अन्य खाते में क्रेडिट देने के लिए स्था यी अनुदेश की सुविधा

  • रिश्तेयदार / भागीदार इत्या दि के साथ संयुक्ती खाता खोलना

  • अवयस्का, निरक्षर, दृष्टिहीन इत्यायदि के नाम पर खाता खोलना

  • बाहरगांव के चेकों के कलेक्शंन के पेटे रु. 15000/- तक तत्काेल क्रेडिट

  • प्रतिवर्ष रु. 17 का मामूली प्रिमियम अदा करते हुए युनाइटेड सुरक्षा योजना के तहत रु. 1.25 लाख बीमे के लाभ हेतु समावेश

  • एटीएम – सह – डेबिट कार्ड

  • कीमती वस्तुओं की सेफ कस्टाडी की सुविधा, सुरक्षित लॉकरों की सुविधा  

न्यूनतम जमा शेष रखना आवश्यसक
(समय समय पर परिवर्तन संभव, जिनके लिए ग्राहक को 2 महीने पूर्व नोटिस देनी होगी.)


चेकबुक सुविधा के साथ महानगरी / शह री / अर्धशहरी / ग्रामीण शाखा 500
चेकबुक सुविधा के बगैर ग्रामीण शाखा महानगरी / शह री / अर्धशहरी / ग्रामीण शाखा 50
100
पेंशनर, दृष्टि विकलांग, यूएसपी खाते, वरिष्ठय नागरिक, महिलाएं जो स्वजयं या अवयस्का के पालक के रूप में परिचालन करती हैं, औद्योगिक / कृषि मजदूर, अल्परआयवाले परिवार, उच्च/ शिक्षा के लिए राष्ट्री य प्रोत्सांहन योजना के तहत छात्राएं, वित्तीय समावेशन के लिए खोले गए खाते Zero

ग्राहकों के लिए अन्यख विशेषताएं

  • खाते में भुगतान करने के बाद 14 दिनों के भीतर ग्राहक अपने खाते को चालू खाते में परिवर्तित कर सकते हैं या कोई पूर्वसूचना दिए बगैर, कोई प्रभार दिए बिना पैसे वापस ले सकते हैं.

  • भारिबैंक मानदंडों के अनुसार नोट हमेशा बिना स्टेगपल किए ही स्वीाकार किए जाएं.

  • चेकबुक, पासबुक, एटीएम कार्ड खो जाने, चोरी हो जाने या खराब हो जाने की स्थिति में शाखा को तुरंत सूचित करें (टोल फ्री नंबर 1800 1033 470)

  • खाते में राशि का प्रावधान न होने से चेक वापस किया जाना एक अपराध है और इसके लिए न्या यालय में कानूनी कार्यवाही की जा सकती है.

  • रिकार्ड किए गए पते में कोई बदलाव हाने पर तुरंत बैंक को सूचित किया जाए.


चेकों का कलेक्शपन



  • स्थांनीय चेकों के लिए : कलेक्शणन प्राप्तियों के साथ बैंक को जिस तारीख को निधि प्राप्तश होगी, उसी दिन खाते में राशि जमा की जाएगी. लेकिन क्लियरिंग रिटर्न का समय बीत जाने के बाद ही राशि का आहरण किया जा सकेगा.

  • बाहरगांव के कलेक्‍शन चेकों के लिए : ईशान्यब के राज्य और सिक्किम को छोडकर राज्यों की राजधानियों के लिए अधिकतम कलेक्शबन अवधि 10 दिनों की होगी और अन्यो स्थाननों के लिए 14 दिनों की. असाधारण विलंब के लिए (90 दिनों के बाद) मियादी जमा की अवधि के लिए लागू दर से और साधारण विलंब के लिए बचत बैंक की दर से ब्यादज देय होगा.

  • आदेश (मैनडेट) देने पर ईसीएस / आरटीजीएस सुविधा दी जाएगी, जिसके लिए सामान्यब प्रभार लगाए जाएंगे.

  • रु. 50000 और इससे अधिक राशि नकदी में जमा कराने के लिए जमा के चालान में पैन नंबर दर्ज करना आवश्य क होगा.

  • मृतक के खाते में राशि का निपटान : नामिती को शेष राशि का भुगतान किया जाएगा. नामांकन न होने की स्थिति में कानूनी वारिसों को विरासत प्रमाणपत्र, क्षतिपूर्ति बांड और जामिन इत्याथदि प्रस्तु त करने के बाद राशि अदा की जाएगी. दावे की राशि पर दस्तािवेजों की प्रस्तु्ति निर्भर होगी.

  • पासबुक खो जाने की स्थिति में, वचन पत्र प्रस्तुलत करते हुए और संबंधित दस्ता.वेज लेकर और समुचित प्रभारों का भुगतान करने के बाद डुप्ली केट पासबुक दिया जाएगा.

निम्नच श्रेणियों को बचत खातों में शून्य शेष रखने की अनुमति दी जाएगी :

(परिपत्रांक ओएम/एसवाईएस पीआरओ/200/12/ओएम-157/2004 दिनांक 25.06.2004 )


  1. पेंशनर्स

  2. वरिष्ठ् नागरिक

  3. महिला ग्राहक, उनके एकल नाम से या अवयस्क् बच्चे1 की माता के रूप में

  4. खाताधारक जिसका वेतन जमा किया जाता है

  5. दृष्टि विकलांग व्यक्ति


(परिपत्रांक आरबीडी/23/ओएम-537/05-06 दिनांक 27.12.05)


  • ग्रामीण / शहरी क्षेत्रों में अल्प‍ आयवाले परिवार

  • ग्रामीण / शहरी क्षेत्रों में औद्योगिक / कृषि मजदूर

  • वरिष्ठण नागरिक जो पेंशनर नहीं हैं.

आप यूबीआई के द्वारा 10 विभिन्न योजनाएं उपलब्ध हैं. आप सबसे उपयुक्त विधा के अनुसार उनका चयन कर सकते हैं.
Valid XHTML 1.0 Transitional Valid CSS! WCAG 2.0 (Level AA) ipv6 ready
Site best viewed in resolution of 1024x768 Pecs logoPECS